सपने

सपने हम भी देखते है
बस किसी से कहते नहीं
दुनिया हम भी जितना चाहते है
बस कोशिश ज़्यादा करते नहीं

अरमान हमारे भी दिलो में है
बस ध्यान उनकी तरफ देते नहीं
पर चाहे जितना धुत्कार दे
दिलो में सिमटकर, ये सपने रहते नहीं

क्योँ कोई करेगा हमारे सपनो पे भरोसा
कोई सबूत अपनी काबिलियत का
हम कभी दे नहीं पाये
एक तुम ही थे, हमारे अस्तित्व का सहारा
एक तुम्हारी उम्मीदो का बोझ भी
हम उठा नहीं पाये

ना जाने क्योँ अब भी देखते है हम सपने
ना ही इनके पर है,
ना ही पर के नीचे हवा
ना जाने कहा बचे है वो अपने
जिन्हे अब भी हम पे यकीं है
जिन्हे है हमारे सपनो पे भरोसा

तुम बस

तुम बस एक कदम आगे तो लो, बाकी का रास्ता हम तय कर लेंगे
तुम बस नज़रे उठा के देख तो लो, आँखों ही आँखों में बातें हम कर लेंगे
तुम बस एक बार इशारा तो करो, बिन कहे सारी बातें हम समझ जायेंगे
तुम बस प्यार का इज़हार तो करो, इस दुनिया से तो हम अकेले ही लड़ जायेंगे.

तुम बस मांग के तो देखो, आसमां से तारे भी हम तोड़ लायेंगे
तुम बस एक बार चाह के तो देखो, हर चाहत को तुम्हारी हम पूरा कर दिखाएँगे
तुम बस आरज़ू बयां तो करो, सारी जन्नतें तुम्हारे कदमो में ला गिराएंगे
तुम बस प्यार कर के तो देखो, प्यार कि सारी कस्मे हम निभाएंगे.

तुम अरमान बयां तो करो, उन्हें पूरा करने का ज़िम्मा हम उठाएंगे
तुम कभी आज़मा के तो देखो, दुनिया कि सारी हद्दे हम पार कर जायेंगे
तुम कभी भरोसा कर के तो देखो, हम इस भरोसे के लिए जान भी दे जायेंगे
तुम हमपे प्यार का दाव लगा के तो देखो, तुम्हे ज़िन्दगी कि बाज़ी हम जीतवाएंगे.

तुम एक बार हाथ थाम लो, ज़िन्दगी भर का साथ हम निभाएंगे
तुम कभी अपना ग़म बाट के देखो, उसे दूर नहीं तो कम हम कर दिखाएँगे
तुम अपनी खुशियों में शामिल तो करो, उन्हें दुगना हम कर दिखाएँगे
तुम बस हम से प्यार करो, हम इसी एहसास की बदौलत ख़ुशी से मर जायेंगे.